+91 9810398128

info@pridemybaby.com

+91 9810398128

a9@urag@gmail.com 0 items - $0.00

होली - Holi Hai rango se bhera khel, rengon se bhera tyohaar

होली - Holi Hai rango se bhera khel, rengon se bhera tyohaar


आज होली है। में भी होली खेलूंगी क्योकि गीतू और मीतू के बगीचे में बहुत से मित्र रंग खेलने आए हैं। बगीचे में बहुत सारा गुलाल और दो बड़ी बाल्टियाँ हैं। जिसमे एक में हरा रंग है और दूसरी में लाल।

हर तरफ गुलाल उड़ रहा है। गीतू घर के अंदर मिठाई लेने गई है। मीतू पिचकारी में लाल रंग भर रही है।  मीतू के साथ चीनू और मीनू भी है। वे लोग रंग भरे गुब्बारे एक दूसरे पर फेंक रहे हैं। कुछ मित्र गुलाल फेंक रहे हैं। देखो, गुलाल आँख में न जाए। किसी के जरा  देख के फेकना ।

होली का खेल मजेदार है। इसे खुले में खेलते हैं। जैसे हम खेल रहे है बगीचे में घर के अंदर खेलने से घर गंदा हो जाता है। थोड़ी देर रंग खेल कर हम हाथ मुँह धोकर घर के अंदर जाकर कपड़े बदलेंगे। क्योकि माँ ने कहा था ज्यादा देर रंग मत खेलना, नहीं तो सर्दी लग जाएगी।

होली का दिन मजेदर होता है इस लिए तो हर बच्चे का मुह गुलाल से लाल होता है 


Hot Posts

Related Posts