+91 9810398128

info@pridemybaby.com

+91 9810398128

a9@urag@gmail.com 0 items - $0.00

शालू की

शालू की


शालू एक बहुत ही अच्छी लड़की है और उससे नयी नयी चीज़ों का  बहुत शौक है। वह परियों और जादुई चीज़ों के बारे में बहुत सोचती है। एक रात की बात है शालू अपने बस्तर पर लेटी हुई कुछ सोच रही थी की "काश उसके पास कोई जादू की छड़ी होती" तो कितना मजा आता। वह सोच ही रही थी अचानक उसकी नज़र खिड़की पर पड़ी, उससे बिजली चमकती हुई दिखाई दी, वह तुरंत उठ कर वहाँ पहुँची और उसने देखा की बहुत सुन्दर सी परी उसके पास आ रही है।

 

 शालू उस परी को देख कर बहुत खुश हुई इतने में परी पास आकर बोली -"शालू तुम बहुत अच्छी लड़की हो, इसलिए तुम मझे बहुत पसन्द हो और तुम हमेशा मुझे याद करती रहती हो इसलिए आज में तुमसे मिलने आयी हूँ", यह सुनकर शालू की ख़ुशी का ठीकाना न रहा और वह परी से बोली की आप हमेशा मेरे पास रहना,मैं हमेशा आपके साथ रहना चाहती हूँ पर परी ने कहा की "मैं हमेशा एक जगह पर नहीं रह सकती पर तुम उदास न हो मेरी एक चीज़ जो मैं तुम्हे देना चाहती हूँ जो है "जादू की छड़ी"

 

परी ने शालू को छड़ी देते हुए कहा "ये जादू की छड़ी है तुम इसे जिस चीज़ की तरफ मोड़ कर दो बार घुमाओगी वह चीज़ गायब हो जाएगी" और इसका दुरूपयोग न करना, यह कह कर परी गायब हो गयी।

 

अगले दिन सुबह शालू उस छड़ी को स्कुल ले गयी और उसने सोचा -"चलो एक बार कुछ चीज़ गायब कर के देखी जाये, उसने पहले सामने बैठी लड़की की किताब गायब कर दी फिर कई बच्चो की पेंसिल और रबर भी और किसी को पता भी नही चला की ये सब शालू की छड़ी का कमाल है " उससे मजा आने लगा चीज़े गायब होते देख। जब वह घर पहुँची तब भी उसकी यह शरारत बंद नहीं हुई। घर में रसोई के सामने एक कुर्सी रखी थी शालू अब इससे गायब करना चाहती थी जैसे ही उसने छड़ी को घुमाया कुर्सी की ओर तभी शालू की माँ रसोई से निकल कर कुर्सी के सामने आ गयी, फिर क्या था कुर्सी की जगह शालू की माँ गायब हो गयी। शालू बहुत घबरा गयी और रोने लगी और परी को याद करने लगी। इतने में परी शालू के सामने प्रकट हो गयी फिर शालू ने परी को सारी बात बताई, परी ने शालू से कहा- "तुम रोओ मत मै तुम्हारी माँ को वापस ला सकती हूँ पर तुमसे यह छड़ी ले जाउंगी क्योंकि तुमने इसका दुरुपयोग किया है", शालू ने कहा-"आपको जो चाहिए ले लो पर मझे मेरी माँ वापस ला दो।"

 

परी ने एक जादुई मन्त्र पड़ा और देखते ही देखते शालू की माँ वापस आ गयी और शालू अपनी माँ से लिपट गयी।  फिर उसने परी का धन्यवाद करना चाहा पर तब तक परी बहुत दूर बादलो में जाते हुई दिखाई दी। और फिर उसने मन ही मन परी को धन्यवाद किया और वादा भी की किसी भी चीज़ का गलत दुरूपयोग नही करूँगी।


Hot Posts

Related Posts